बकरा भात: अफसर और बाबू ने कई महीनों से शिक्षिका की वेतन रोक रखा…घूस के तौर पर बकरा भात की मांग कर रहे…

बलौदाबाजार। बलौदाबाजार जिले के कसडोल ब्लाक के अंतर्गत ग्राम बया के सरकारी स्कूल के शिक्षिका से बकरा भात कि घुस कि मांग के चलते शिक्षकों का वेतन बाबु ने रोक रखा है। भात के लिए बया की पीड़ित शिक्षिका ने इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से की है। शिकायत में स्कूल के प्राचार्य और बाबू पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।शासकीय हाई स्कूल में पदस्थ शिक्षिका रीना ठाकुर ने स्कूल के प्राचार्य और बाबू पर वेतन रोकने, बदतमीज़ी और मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री से लिखित शिकायत में टीचर ने कहा है कि बकरा भात के लिए चंदा नहीं देने पर स्कूल के प्राचार्य और बाबू ने उनका वेतन रोक रखा है टीचर ने प्रताड़ता का भी आरोप लगाया है। कहा है कि लगातार बदतमीजी और मानसिक प्रताड़ना किया जा रहा है। जिससे वे आहत हो गई है। वहीं मुख्यमंत्री से शिकायत करने के बाद यह मामला सामने आया है।

जान से मारने की धमकी भी दिये ….

रीना ने बताया कि शुरुआत में उनके नाम की गड़बड़ी बताकर वेतन रोका गया । रीना शादी से पहले उर्वाशा सरनेम लिखती थीं लेकिन शादी के बाद वे अब ठाकुर लिख रही हैं । इसी को आधार बनाकर अफसर परेशान कर रहे हैं।ब्लॉक एजुकेशन अफसर के दफ्तर जाकर नाम की त्रुटि को बदलवा भी लिया मगरअफसरों ने तब भी वेतन नहीं दिया , वहीं रीना ने बताया कि इसके बाद क्लर्क हरीश ने एक बार शराब पीकर उसे जान से मारने की धमकी भी दी, इन घटनाओं की वजह से रीना मानसिक रूप से परेशान हो गई है। लोक शिक्षण संचालनालय में भी शिकायत दे चुकी हैं मगर इन्हें अभी तक वेतन नहीं मिला है।

Spread the love
error: Content is protected !!