CG NEWS: कटगी के शासकीय विद्यालय से 51हजार की कम्प्यूटर चोरी… कुछ दिन पहले शराब भट्टी में 80 हजार की शराब चोरी हुई थी…. लगातार दो चोरी हैरान कर रहे… पुलिस विभाग चोरो को पकड़ने मे नाकाम …

बलौदाबाजार।

बलौदाबाजार जिले के अंतर्गत आने वाला ग्राम पंचायत कटगी में चोरी की घटना थमने का नाम नहीं ले रही है । बीते सप्ताह में ही चोरों ने चोरी की दो बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया है, ऐसे में पुलिस प्रशासन पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं । आपको बताते चलें कि 11 मई की रात को ही ग्राम पंचायत कटगी के अंग्रेजी शराब दुकान से चोरों ने लगभग 80,000 रुपये का शराब पार कर दिया ।

इस घटना को एक सप्ताह भी नहीं बीता था कि ग्राम कटगी के सरकारी विद्यालय में चोरों ने 51000 का कंप्यूटर सेट पार कर दिया । ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि इतनी बड़ी ग्राम पंचायत, इतना बड़ा व्यवसाय, फिर भी पुलिस की पेट्रोलिंग और पुलिस का खौफ चोरों में आखिर क्यों नहीं दिख रहा है?

ग्राम वासियों में इस बात को लेकर चर्चा है कि अगर ऐसी चोरी की घटना होती रही, तो वह व्यवसाय कैसे कर पाएंगे?बताते चलें कि कटगी में यह चोरी की पहली घटना नहीं है इससे पहले भी अनेकों चोरी कटगी में हो चुकी है । लेकिन अभी तक ज्यादातर मामलों का खुलासा नहीं हो पाया है । ऐसे में कहा जा सकता है कि कटगी में चोरी होना तो आम बात हो गई है लेकिन चोरी का खुलासा होना एक पहेली सी बन गई है ।

स्कूल में हो चुकी पहले भी चोरीदरअसल शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कटगी में चोरी की यह पहली घटना नहीं है, इससे पहले भी कई चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया गया है । आपको ताज्जुब होगा कि कटगी के शासकीय विद्यालय में कई कंप्यूटर सेट पहले से चोरी हो चुके हैं । लेकिन, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य ने इसकी रिपोर्ट थाने में लिखाई ही नहीं । ऐसे में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य की कार्यप्रणाली पर भी कई सवाल खड़े होते हैं ।

क्या सरकारी संपत्तियां ऐसे ही चोरी होती जाएंगी और इसकी रिपोर्ट तक थाने में नहीं लिखाई नहीं जाएगी? अगर थाने में नहीं रिपोर्ट नहीं लोकहै जाती है, तो फिर चोरी हुआ सामान वापस कैसे होगा? सवाल यह भी उठता है कि क्या स्कूल प्रशासन के जिम्मेदार ही इन मशीनों को पार तो नहीं कर रहे हैं? सवाल गंभीर है लेकिन शायद जवाब, विद्यालय के प्राचार्य देना ही नहीं चाहते ।

शासकीय विद्यालय में भी बड़ा गोलमालएक समय था जब कटगी के शासकीय विद्यालय में पढ़ाई के लिए बड़ी दूर – दूर से विद्यार्थी आते थे ।

आसपास के सभी विद्यालयों में कटगी के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का नाम पढ़ाई के क्षेत्र में सबसे उत्कृष्ट था । लेकिन, जैसे – जैसे समय बीतता गया ठीक वैसे – वैसे ही पढ़ाई का स्तर शासकीय माध्यमिक विद्यालय में कम होते गया । अक्सर शासकीय विद्यालय में या बात सामने आती रहती है कि बहुत सारे शिक्षक तय समय में विद्यालय आते ही नहीं और आते भी हैं तो छुट्टी होने के पहले ही चले जाते हैं । कई शिक्षकों की तो ऐसी भी शिकायत है कि वह महीने में 1 दिन आते हैं और रजिस्टर में अपने पूरे महीने का हस्ताक्षर कर चले जाते हैं । ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर इन सब की जिम्मेदारी किसकी है?

लगतार कटगी में घटित होता रहा बड़ा अपराध आपको बताते चलें कि ग्राम कटगी में चोरी, डकैती, चैन स्नेचिंग, लूटपाट, मर्डर जैसी बड़ी घटनाएं घट चुकी है । बावजूद, इसके कटगी में घटित कई चोरियों का खुलासा नहीं हो पाया है । कटगी में चोरी की वारदात एक बार फिर होने से पुलिसिया व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगना स्वाभाविक है । कटगी में शराब दुकान होने की वजह से बाहरी लोग बड़ी संख्या में आते हैं जिससे मारपीट के साथ अनेकों घटनाएं घटित होने का डर ग्रामवासियों को रहता है । बावजूद इसके पुलिस की उपस्थिति यहां ( कटगी में) नगण्य ही नजर आती है ।

इस मामले का खुलासा होगा या नहीं ग्राम कटगी में चोरी की इतनी घटना घटित हो चुकी है कि लोगों को लगता है कि यहां चोरी होना आम बात हो गई है । ग्रामीणों में चर्चा का विषय है कि इस चोरी का खुलासा होगा भी या नहीं भगवान भरोसे है । ऐसे में देखना होगा कि पुलिस इस बार लोगों के विश्वास पर खरा उतर पाती है या नहीं । देखना महत्वपूर्ण होगा कि पुलिस कब चोरों को पकड़ पाती है ।पुलिस सहायता केंद्र भी नहीं!ग्राम पंचायत कटगी जनसंख्या के हिसाब से एक बड़ा पंचायत है ।

ऐसे में पुलिस सहायता केंद्र की आवश्यकता कटगी में है लेकिन शायद पुलिस महकमा को यह जरूरी नहीं लगता कि कटगी में पुलिस सहायता केंद्र खोला जाए । कुछ समय पहले कुछ समय के लिए पुलिस सहायता केंद्र कटगी में खोला गया था लेकिन उसके बाद पुलिस सहायता केंद्र कब बंद कर दिया गया लोगों को पता ही नहीं चला ।

ग्राम पंचायत कटगी के भवन में अभी भी पुलिस सहायता केंद्र लिखा देख लोगों को लगता है कि शायद यहां पुलिस सहायता केंद्र हो । लेकिन वास्तविकता तो यहीं है कि पुलिस सहायता केंद्र कटगी में है ही नहीं । बताते चले कि 20 दिसंबर 2017 में तत्कालीन एस पी आर एन दास ने कटगी को पुलिस सहायता केंद्र की सौगात दी थी लेकिन वह भी कुछ ही दिन बाद बंद हो गया ।

Spread the love
error: Content is protected !!