छत्तीसगढ़-महंगी शराब का रिश्वत: रकबा बढ़ाने नायब तहसीलदार ने महंगी शराब की थी मांग…. विडियो वायरल होने के बाद… कलेक्टर ने आदेश जारी कर कमिश्नर को लिखा पत्र…. चमनबहार।

बिलासपुर । राजस्व अधिकारी किस हद तक जाकर राजस्व प्रकरणों की सुनवाई में मनमानी कर रहे हैं, इसकी बानगी बिलासपुर में देखी जा सकती है। जीं हां यहां नायब तहसीलदार कोर्ट रूम में ही महंगी शराब के एवज में ग्रामीण का रकबा बढ़ाने की बात कह रहे है। इस पूरे मामले का जब विडियों वायरल हुआ तो अब कलेक्टर ने नायब तहसीलदार को भू अभिलेख शाखा में अटेच कर कमिश्नर को कड़ी कार्रवाई करने के लिए पत्र लिख दिया है।

दरअसल पूरा मामला बिलासपुर के मस्तूरी तहसील कार्यायल का है। यहां नायब तहसीलदार के पद पर रमेश कुमार कमार पदस्थ हैं। पिछले दिनों एक प्रकरण की सुनवाई में नायब तहसीलदार साहब ने दूसरे पक्ष को सुने बगैर ही एक पक्ष का रकबा बढ़ाने का आदेश दे दिया गया।

इस आदेश के एवज मे बकायदा नायब तहसीलदार ने कोर्ट रूम में ही महंगी शराब की डिमांड कर दी। फिर क्या था एक पक्ष ने जहां शराब की डिमांड पूरी करने की जुगत में जुट गया, वही दूसरे पक्ष ने नायब तहसीलदार साहब की इस मनमानी का विडियों बना लिया।

सोशल मीडिया में विडियों वायरल होने के बाद राजस्व विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन में मस्तूरी SDM ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए बिलासपुर कलेक्टर के संज्ञान में मामला लाया गया।

जिस पर कलेक्टर सारांश मित्तर ने रविवार होने के बाद भी आज ही आदेश जारी करते हुए नायब तहसीलदार रमेश कुमार कमार को तत्काल प्रभाव से बिलासपुर भू अभिलेख शाखा में अटेच करने का आदेश जारी कर दिया है। इसके साथ ही कलेक्टर ने बिलासपुर कमिश्नर डॉ.संजय अलंग को भी पत्र लिखकर दोषी नायब तहसीलदार पर विधिवत कड़ी कार्रवाई करने की बात लिखी है।

Spread the love
error: Content is protected !!